fbpx

कसोल कैम्पिग: एक अविस्मरणीय अनुभव

कसोल में कैंपिंग करने का सोच रहे हैं, तो ये पढ़कर जाइए….

कसोल में पार्वती नदी के किनारे बैठकर जो प्रकृति का अद्भुत दृश्य देखने को मिलता है, उसे तस्वीरों या शब्दों में बयान कर पाना लगभग असंभव है. कसोल- कुल्लू से सटा एक छोटा कस्बा या गांव है जिसे उत्तरी भारत में सबसे पसंदीदा पयर्टक स्थलों में गिना जाता है. यानी कि Most Visited Tourist Place in North India.  

कुछ लोग इसे “भारत का एम्स्टर्डम” (Amsterdam of India) कहते हैं तो कुछ “स्वर्ग का द्वार” (Heaven’s Getaway) कहना पसंद करते हैं. 

समुद्र तल से 1640 मीटर की उंचाई और हिमालय की गोद में बसा यह अलौकिक स्थल चारों ओर से पहाड़ों से घिरा है, इसीलिए हाइकिंग (Hiking) और ट्रेकिंग (Trekking) के शौकीन लोगों को अपनी ओर खींचता है. असाधारण प्राकृतिक छटाएं, गगन छूते पहाड़, दिल लुभाने वाला वातावरण और मदद करने वाले स्थानीय लोग.  यही सब वजहें हैं जिनके कारण कसोल हजारों लोगों का यह फेवरेट टूरिस्ट डेस्टिनेशन (Favourite Tourist Destination:Kasol)) है.

 

कसोल में बहती पार्वती नदी
पार्वती नदी: कसोल (Source: BanBanjara)

 

कसोल आप जैसे प्रकृति प्रेमियों के लिए एक बढ़िया ठिकाना इसलिए भी है क्योंकि यहां के हरे-भरे पहाड़, मनोहर नजारे और कैंपिंग का ऐसा अनुभव जो कभी भूल ही नहीं सकता. आपकी सारी परेशानियां मानो जैसे यहां भूल ही जाती है.

कसोल में कैंपिंग (Camping in Kasol) करने के लिए आपको बहुत से विकल्प मिल जाएंगे, लग्जरी (Luxury) और मॉर्डन कैंपस (Modern Camps) से लेकर सस्ते और एडवेंचर कैंपस (Adventure Camps in Kasol).

कसोल में दोस्तों के साथ कैंपिंग करना मजेदार है क्योंकि बोनफायर (Bonefire), फिशिंग (Fishing), ट्रेकिंग (Trekking) और पर्वतारोहण (Mountaineering) जैसी गतिविधियों का यह वर्षों से एक केंद्र है. शहर के शोर-गुल से दूर और प्रकृति की अनूठी सौंदर्यता के बीच पार्वती नदी के किनारे कैंपिंग करना आपको और आपके दोस्तों को जीवन भर के लिए अमिट यादें देता है.

 

कसोल में कैंपिंग करने का सबसे अच्छा समय (Best Camping Time In Kasol)

अगर आप बर्फ के दीवाने हैं और कसोल के बर्फीले पहाड़ों में कैंपिंग करने का भरपूर आनंद उठाना चाहते हैं तो सर्दियों में नवंबर से लेकर फरवरी तक का समय सबसे सही है. जो लोग प्रकृति प्रेमी हैं और घाटी की सौंदर्यता को करीब से निहारना चाहते हैं वो कभी भी जा सकते हैं, पर उनके लिए भी यह समय ठीक रहेगा.

 

कसोल में कैंपिंग करने में कितना खर्च आता है? (Average price in Kasol for camping)

कसोल कैंपिंग में आने वाला खर्च एक नहीं बल्कि विभिन्न चीजों पर निर्भर करता है. कितने समय रुकना है, कौन सा मौसम है, किस तरह की गतिविधियां करनी है और कौन सी कैंपिंग साइट आप चुनते हैं. ये सभी चीजें आपका बजट तय करती हैं.

कसोल में कई कैंपिंग साइटस हैं और सभी की कीमते अलग-अलग हैं. 

कैंपिंग के अलावा कसोल में और क्या कर सकते हैं?

कसोल में छुट्टियां बिताने के लिए और भी बहुत कुछ हैं. जो भी यहां आता है वो कुछ न कुछ अद्भुत अनुभव वापस लेकर जाता है.

Parvati Valley View Kasol
कसोल घाटी (Source: BanBanjara)

खीरगंगा ट्रैक (Kheerganga Trek)

9500 फीट की उंचाई पर ट्रैक और प्राकृतिक कोलाहल के बीच वक्त बिताने का मौका आपको केवल खीरगंगा घाटी ट्रैक ही दे सकता है. खीरगंगा एक ऑफबीट ट्रैकिंग डेस्टिनेशन (Offbeat Trekking Destination) है जो पार्वती नदी का एक छोर है. अगर आपको नदी किनारे कसोल में कैंपिंग के साथ ही बर्फ से लदे पहाड़ों के बीच ट्रैक करने का मजा लेना है, तो यही सही मौका है.

इसराइली खाने का लुत्फ (Israeli cuisine in Kasol)

मिनि इसराइल (Mini Israel: Kasol) के नाम से जाना जाने वाला कसोल इसराइली लोगों का एक अड्डा बन चुका है और यहां इनकी अच्छी-खासी जनसंख्या है. तो जब भी आएं तो इसराइली खाने का मौका न गवाएं, जैसे कि फलाफेल(Falafel) , बोरेकास(Bourekas), तबूले(Tabbouleh), शाकशुका (Shakshuka) और स्किनज़ल(Schnitzel). इसके अलावा जमर्न बेकरी (German bakeries) के मीठे व्यंजन भी आप ट्राई कर सकते हैं. 

फ्ली मार्केट में शॉपिंग (Shopping at Flea markets)

कसोल बाजार में कई दिलचस्प दुकानें हैं जहां से आप ऐसा सामान खरीद कर घर वापस आ सकते हैं जिनका और कहीं मिल पाना मुश्किल है. फ्ली मार्केट को तो पूरे कुल्लू शहर का विशेष आकर्षण माना जा सकता है और शॉपिंग के दीवानों के लिए परफेक्ट जगह.

यहां मिलने वाली खास आइट्मस हैं, चिलम, बॉन्ग, बॉब मार्ले के प्रिंट वाली टी-शर्ट, विदेशी कपड़े, हस्तकला से बनी चीजें, हिमाचली टोपियां, ब्रेसलेट, नेकलेस, पैन्डेंट आदि. यहां खरीददारी करते हुए मोलभाव जरूर कीजिएगा, सस्ता पड़ जाएगा.

कसोल में कैंपिंग की बेहतरीन साइट्स (Best Camping Sites In Kasol)

कसोल में फुल मस्ती भरी छुट्टियों का आनंद लेने के लिए ये बेहतरीन कैंपिंग साइट्स हैं-

People doing trekking in Kasol
कसोल ट्रैकिंग (Source: BanBanjara)

कबीला कैंप्स (Kabila Camps)

कबीला कैंप में कैंपिंग करने के आपको अलग-अलग पैकेज मिल जाएंगे जो आपकी जेब पर भी भारी नहीं पड़ेंगे. आप स्विस टैंट (Swiss tent) से लेकर पारंपरिक टैंट (Traditional tent) के बीच कुछ भी चुन सकते हैं.

आपको अपने बजट के मुताबिक सुविधाएं चुनने की पूरी आजादी मिलती है. यह खूबसूरत कैंपिंग साइट आपको जिंदगी की समस्याओं और थकान को भूलकर पहाड़ों में खो जाने को मजबूर कर देगी. यह कसोल के बेहतरीन कैपंस में से एक है.

पार्वती व्यू रिवरसाइड कैंप (Parvati View Riverside Camps)

अगर आप अपने अंदर के एड्रेलाइन (Adrenaline) को पंप करने की सोच रहे हैं और हाइकिंग जैसी एक्टिविटि कर नैचुरल दुनिया में आराम करने का विचार है तो पार्वती व्यू रिवरसाइड कैंप से बेहतर ऑप्शन आपको नहीं मिलेगा.

पार्वती नदी के किनारे पर बने इस कैंप में में आरामदायक और बजट के अंदर आने वाले टैंट्स चुन सकते हैं और पूरा लुत्फ उठा सकते हैं.

ऑरचार्ड कैंपस (Orchard Camps)

शहर की चकाचौंध और शोरगुल से दूर, ऑरचार्ड कैंप आपका इंतजार कर रहे हैं. यहां आपके और नेचर (Nature) के बीच और कोई नहीं बल्कि पार्वती नदी के बहते पानी का एक मीठा सा राग होगा.

ऊंचे पहाड़ों से घिरे इस कैंपिंग साइट में आपको ताजा हवा, हाइकिंग के नए-नए रास्ते और पहाड़ों से दुनिया देखने का एक मौका मिलेगा. जिसे आप कभी भूल नहीं पाएंगे.

जालपा कैंपस (Jalpa Camps)

जालपा कैंप एक अन्य विकल्प है जो कसोल में शांति और प्रकृति के आध्यात्मिक वातावरण में वक्त बिताने की अनुकूल जगह देता है. कैंप में स्वादिष्ट शाकाहारी खाना मिलेगा जिसे खाकर आप दोबारा जरूर वापस आना चाहेंगे. नदी के पानी के मीठे शोर के साथ यहां से पहाड़ों का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है, जिसे दिल में कैद करने को जी करता है. 

महादेव रिवर व्यू  कैंपस (Mahadev River View Camps)

कसोल बाजार से सिर्फ कुछ ही मिनट की पैदल दूरी पर बने महादेव रिवर व्यू कैंप खास पार्वती नदी के किनारे हरियाली के दीवानों के लिए बनाए गए हैं. यहां पर सोने, खाने की सुविधाओं के साथ आरामदायक और सस्ते कैंप भी मिल जाएंगे. यहां जाओ तो लोकल खाने का स्वाद लेना मत भूलना, जो यहां परोसा जाता है. कसोल का यह सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला कैंप है.

अब आपकी बारी

हर साल, हर महीने, हर रोज हजारों लोग कसोल से ताजा एक्सपीरियंस लेकर आते हैं, आप कब जा रहे हैं?

 

Leave a Comment