fbpx

लोकसभा चुनाव 2019 : दिल्ली में ताकतवर पार्टियों की हार की ओर इशारा

लोकसभा चुनाव 2019 अब महज़ कोई आम चुनाव नहीं बल्कि बेहद खास चुनाव बन चुके हैं। इसमें कोई शक नहीं कि भाजपा का पलड़ा हाल फिलहाल अन्य किसी भी मुख्य पार्टी से भारी है।

 

 

ऐसा नहीं कि भाजपा को हराना असंभव ही हो गया है, यदि समझदारी व विवेक से बाकी दल मिलकर चले तो भाजपा को कई राज्यों में शिकस्त दी जा सकती है।

यू.पी, गुजरात व महाराष्ट्र एवं कुछ छोटे राज्यों को छोड़कर किसी भी बड़े राज्य में भाजपा एकतरफा जीत की स्थिति में नहीं है। कुल मिलाकर अगर क्षेत्रीय दल और राष्ट्रीय दल एकसाथ मिलकर काम करे तो कुछ बात बनाई जा सकती है।

अभी बात दिल्ली की ही कर लेते हैं।

एक ओर स्ट्रांग पोज़ीशन में बैठी आम आदमी पार्टी सबसे कमजोर स्थिति वाली कांग्रेस से गठबंधन की गुहार लगा रही है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस बिना किसी लॉजिक लगाए भाव खा रही है।

कांग्रेस-आप का ये गठबंधन निश्चित रूप से सफल सिद्ध हो सकता था और यही नहीं भविष्य में आम आदमी पार्टी के लिए राष्ट्रीय स्तर पर खुद को साबित करने का इससे सही मौका नहीं था।

लेकिन अब तो लगभग मना ही हो गई है, और कुमार विश्वास जैसे तेज लोगों ने ट्विटर पर सरजी की काफी छिछालेदार बेज्जती भी की है।

खैर, अगर ये गठबंधन होता तो शायद विपक्ष को फायदा होता।

अब ये गठबंधन नहीं हो रहा तो मुकाबला ज्यादा मुश्किल हो गया है।

देखना दिलचस्प रहेगा कि भाजपा जीतेगी या  कांग्रेस हारेगी।

दी इंडियाग्राम का फेसबुक पेज लाइक करो।

 

Leave a Comment