fbpx

केजरीवाल के मुताबिक भगवंत मान ने दारू छोड़कर बड़ी कुर्बानी दी है

भगवंत मान पंजाब के संगरूर लोकसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के सांसद हैं और एक बहुत ही लोकप्रिय कलाकार भी है। अपना एक्टिंग, सिंगिंग व कॉमेडी के अलावा भगवंत मान एक और चीज के लिए भी काफी मशहूर है, वो है उनके दारू पीने की आदत। दारू के नशे में कई बार पब्लिक प्लेस में हंगामा करने के लिए और संसद में अपने जबरदस्त भाषणों के लिए भगवंत मान को खूब सराहा जाता है.

 

यकीन ना हो तो ये वीडियो देख लो-

दारू छोड़ेंगे भगवंत मान

 

जनवरी 2019 में भगवंत मान ने कसम खाई है कि वे अब कभी दारू को हाथ नहीं लगाएंगे। उनका ये फैसला काबिल-ए-तारीफ है. ऐसी सोच हर राजनेता की होनी चाहिए बल्कि सभी इन्सानों की होनी चाहिए. अच्छी बात है.

पर कितनी बड़ी बात है. कुर्बानी जितनी ?

कुर्बानी शब्द के कई अर्थ निकाले जा सकते हैं।

एक कुर्बानी मुस्लमान अल्लाह के नाम देते हैं. एक कुर्बानी हमारे नौजवान सीमा पर देते हैं. एक कुर्बानी हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने देश को आजाद करने के लिए दी थी. पर यहां भगवंत मान ने भी कुर्बानी दी है. दारू छोड़कर.

ऐसा हम नहीं बल्कि आम आदमी पार्टी के संयोजक व दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल जी कह रहे हैं.

 

सुन लीजिए. फिर ना कहिएगा फेक न्यूज़ है.

 

अब केजरीवाल जी की माने तो भगवंत मान ने दारू छोड़कर जनता पर बहुत बड़ा उपकार किया है. कुर्बानी दी है. अब ये विवेक और समझ की बात है कि किसी का दारू छोड़ना कुर्बानी नहीं हो सकता. क्योंकि कुर्बानी वो है जो हमारे स्वतंत्रता सैनीनियों ने दी थी और हमारे नौजवान देश के लिए देते हैं.

 

ऐसा कहकर केजरीवाल जी ने कहीं ना कहीं तो हमारे सैनिकों का अपमान किया है. विचारधारा जो भी हो लेकिन शब्दों का चयन उचित होना चाहिए. माना कि भगवंत मान जी का यह फैसला स्वागतयोग्य है. लेकिन ये उनकी निजी जिंदगी से जुड़ा है. दारू पीना कोई गौरव की बात नहीं है, जिसे छोड़ने पर आपको कुर्बानी जैसी बात कही जाए.

 

खैर, देखना दिलचस्प रहेगा कि भगवंत मान जी की ये कसम तब तक टिकेगी. क्योंकि मौसम देखकर लगता है कि कसम जल्दी ही टूट ना जाए.

1 thought on “केजरीवाल के मुताबिक भगवंत मान ने दारू छोड़कर बड़ी कुर्बानी दी है”

Leave a Comment